Swami Agnivesh Died : आर्य समाज के प्रमुख नेता स्वामी अग्निवेश का निधन 80 साल की उम्र में

 Swami Agnivesh Died : आर्य समाज के प्रमुख नेता स्वामी अग्निवेश का निधन 80 साल की उम्र में

प्रमुख बाते:
-८० साल के उम्र में हरियाणा सर्कार में मंत्री मंत्री रह चुके स्वामी अग्निवेश का निध।
-अग्निवेश आर्य समाज का प्रमख चेहरे थे जो अपने बेबाक बातो के लिए जाने जाते थ।
-पिछले कई दिनों से वो लिवर सिरोरिसिस से ग्रसित थे और जिसके कारन उनका कई अंगो ने काम करना बंद कर दिया था

नई दिल्ली- सामाजिक कार्यकर्ता और आर्य समाज की प्रतिष्ठित व्यक्ति स्वामी अग्निवेश का ८० साल के उम्र में निधन (Swami Agnivesh Death) हो गया है। उन्होंने नयी दिल्ली के एक अस्पताल में शुक्रवार शाम को अंतिम सांस ली। स्वामी अग्निवेश को सोमवार को नई दिल्ली के इंस्टिट्यूट ऑफ लिवर एंड बायिलरी साइंसेज (ILBS) में भर्ती कराया गया था। अस्पताल (ILBS) ने स्वामी अग्निवेश के निधन की पुष्टि करते हुए कहा, ‘स्वामी अग्निवेश को शुक्रवार शाम 6 बजे कार्डियक अरेस्ट हुआ। उन्हें बचाने की भरपूर कोशिश की गई, लेकिन ऐसा संभव नहीं हो सका। उन्होंने शाम 6.30 बजे अंतिम सांस ली।’

मल्टि ऑर्गन फेल्योर के कारण स्वास्त्य गंभीर बानी हुई थी ।
लिवर सिरोसिस की वजह से अग्निवेश के कई प्रमुख अंगो ने काम करना बंद कर दिया थ। और उन्हें मंगलवार से ही वेंटिलेटर पे रखा गया थ।

अस्पताल के सीनियर डाक्टरों की टीम उन्हें देख रही थी लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका

स्वामी अग्निवेश हरियाणा के शिक्षा मंत्री रह चुके थे

स्वामी अग्निवेश का जनम २१ सितम्बर १९३९ को हुआ था और वो एक सामाजिक मुद्दों के लिए लड़ने वाले व्यक्ति के लिए जाने जाते थ।
उन्होंने १९७० में आर्य सभा नाम की एक राजनीती पार्टी भी बनायीं थी। १९७७ में वह हरियाणा में विधानयक चुने गए और हरियाणा सर्कार में
शिक्षा मंत्री भी रहे। 1981 में उन्होंने बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की स्थापना की।

अन्ना हजारे के आंदोलन से लेकर बिग बॉस के घर तक का सफर

2011 में स्वामी अग्निवेश ने अन्ना हजारे की अगुवाई वाले भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन में भी हिस्सा लिया था।
हालांकि, मतभेदों के चलते वह इस आंदोलन से दूर हो गए थे। स्वामी अग्निवेश ने रियलिटी शो बिग बॉस में भी हिस्सा लिया था। वह 8 से 11 नवंबर के दौरान तीन दिन के लिए बिग बॉस के घर में भी रहे।

वो अपने कई हिन्दू विरोधी बयानों के लिए भी विवादों में रहे। कई हिन्दू देवी देवताओ के बारे में गलत बोलने की वजह से उनकी हिन्दू समाज में जमकर आलोचना भी हुई । उनको यहाँ तक नक्सलियों का एजेंट होने का आरोप भी लगा ।

Related post

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Language »