राष्ट्रीय गौ सेवा संघ उत्तर प्रदेश के बढ़ते प्रभाव से प्रदेश में गायों गायों की सूरत बदली

 

राष्ट्रीय गौ सेवा संघ उत्तर प्रदेश के बढ़ते प्रभाव से प्रदेश में गायों की सूरत बदली

राष्ट्रीय गौ सेवा संघ उत्तर प्रदेश के बढ़ते प्रभाव से प्रदेश में गायों गायों की सूरत बदली
राष्ट्रीय गौ सेवा संघ उत्तर प्रदेश के बढ़ते प्रभाव से प्रदेश में गायों गायों की सूरत बदली

 

 

राष्ट्रीय गौ सेवा संघ पिछले कई सालो से समाज सेवा का निरन्तर कार्य कर्ता आ रहा हैँ. पिछले साल करोना काल से ही ‘रा गौ सेवा संघ’ गरीबो और जरुरत मंदो का एक ऐसा मसीहा बनकर उभरा है जिसने लाखों लोगों को जो करोना काल में सड़को पे चल कर घर रहे थे उन मुसाफिरों को रास्ते में खाने की सुविधा, पीने के लिए पानी की व्यवस्था, एवं दवा की व्यवस्था करने का महत्वपूर्ण काम किया. जरूरतमंदों को जागरूक और उनके घर तक पहुंचाने के लिए साधन भी उपलब्ध कराएं. सैकड़ों समाचार पत्रों के माध्यम से ‘राष्ट्रीय गौ सेवा संघ’ की जो प्रशंसा की गई और उसके किए गए कार्यों की तारीफ की गई उससे राष्ट्रीय गौ सेवा संघ की निस्वार्थ भाव से सेवा और गौ माता के प्रति समर्पण की भावना का संदेश समाज में स्पष्ट तौर पर गया🙏

राष्ट्रीय गौ सेवा संघ उत्तर प्रदेश के बढ़ते प्रभाव से प्रदेश में गायों गायों की सूरत बदली
राष्ट्रीय गौ सेवा संघ उत्तर प्रदेश के बढ़ते प्रभाव से प्रदेश में गायों गायों की सूरत बदली

👉धार्मिक दृस्टि से राष्ट्र सेवा के तौर पे ‘राष्ट्रीय गौ सेवा संघ’ गौ माता की जो सड़कों पे लाचार अवस्था में घूमती है जिनको खाने के लिए समुचित व्यवस्था में चारा नहीं होता जो असहाय स्थिति में छोड़ दि जाती है उन गौ माता का समुचित उपचार और उनके खाने का प्रबंध करता है.
👉जर्जर पड़ी सरकारी गौशालाओं में निरीक्षण करके जरूरी निर्देश देते हुए जो भी गाय माता के लिए जरूरी चारा और दवा या सेवा की कमी होती है उसको पूरा कराने का प्रयास करता है.

👉 राष्ट्रीय गौ सेवा संघ का स्पष्ट उद्देश्य यह है कि गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करना और गौ वध को संपूर्ण रूप से बंद करना.
👉 आप सभी गौ भक्तों से विनम्र निवेदन है कि आप हमारे मुहिम के साथ जुड़े और गौ माता की रक्षा और गौ वध को संपूर्ण तरीके से बंद कराकर राष्ट्रीय पशु घोषित करने के हमारे अभियान के साथ जुड़े 🙏
🔻जय गौ माता 🔻

उत्तरप्रदेश आईटी प्रमुख

अरविन्द कुमार विश्वकर्मा

🔻जय गौ माता 🔻

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Language »