भोजपुरी सिनेमा के बेहतरी के लिए कम फिल्मे और अच्छी फिल्में करने पर दिया जाए जोर- सत्येंद्र कुमार सिंह

मनोरंजन: भोजपुरी सिनेमा के मोस्ट वर्सेटाइल एक्टर सत्येंद्र कुमार सिंह इन दिनों भोजपुरी सिनेमा पर अपनी अलग अलग राय रख रहें हैं तथा खुल कर मीडिया से बात भी कर रहे है। मीडिया से बात करते हुए अभिनेता सत्येंद्र कुमार सिंह ने भोजपुरी सिनेमा पर अपने विचार खुल कर व्यक्त किए। उन्होंने कहा की आज भोजपुरी सिनेमा अपने वजूद के लिए संघर्ष कर रही हैं। मैं ऐसा नही कह रहा हूं की हमारी भोजपुरी इंडस्ट्री किसी भी इंडस्ट्री से कम हैं। लेकिन जिस दागाद में हमारे भोजपुरी समझने और बोलने वाले दर्शक हैं। उस हिसाब से हम आज भी सिनेमा जगत में संघर्ष कर रहे हैं। जिसके कई कारण हैं।

प्रमुख कारणों की बात करू तो सबसे बड़ा कारण ये हैं की आज हमारी इंडस्ट्री में हर रोज नई नई फिल्में बन रही हैं। जो किसी भी साधारण कहानी, टॉपिक, स्क्रिप्ट के आधार पर बन जा रही हैं और सिनेमा घरों में फिसड्डी साबित हो जा रही हैं ।यहां तक की अधिकांश फिल्में तो सिनेमा हॉल तो दूर डीजिटल प्लेटफार्म पर भी संघर्ष करती नजर आ रही हैं। दिलचस्प बात ये भी हैं की इनमे में से भी कुछ फिल्में डीजिटल प्लेटफार्म पर रिलीज भी नही हो पाती हैं। सत्येंद्र कुमार सिंह ने कहा की हमारे प्रोड्यूसर, डायरेक्टर, सुपरस्टार को फिल्मों की क्वांटिटी पर नहीं बल्कि क्वालिटी पर ध्यान देना चाहिए। जिसके तहत हमारी फिल्में बेहतर कहानी, सामाजिक मुद्दे तथा एक बेहतरीन स्क्रिप्ट पर बननी चाहिए। सत्येंद्र कुमार सिंह ने यह भी चिंता जताई है कि जिस तरह से हमारी भोजपुरी इंडस्ट्री में फिल्मों से ज्यादा एल्बमो का दौर शुरू हो गया है। उससे कहीं न कहीं हमारी इंडस्ट्री फ़िल्म इंडस्ट्री से एल्बम इंडस्ट्री बनती जा रही है। क्योंकि हाल फिलहाल में फिल्मों से कहीं ज्यादा एक्टर्स एक्ट्रेस एल्बमो पर ध्यान देना शुरू कर दिए हैं। जो इंडस्ट्री के लिए सही नही है।

बताते चलें की सत्येंद्र कुमार सिंह भोजपुरी सिनेमा के पावर पैक एक्टर हैं। जो अपनी नेचरूल अभिनय के लिए जाने जाते हैं।फिल्म “गाँव के लाल” से बतौर हीरो अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले अभिनेता “सत्येन्द्र कुमार सिंह” अभी तक आधा दर्जन भर से ज्यादा फिल्मे कर चुके हैंl जिसमे गाँव के लाल,पावर ऑफ दहसत,शुद्र द रक्षक,इश्क का रोग,वादा कर ले साजना,रांझणा , बिटिया हुई महान-बाबुल के अभिमान आदि प्रमुख हैंl जबकी आधा दर्जन से ज्यादा फिल्मे वह इस साल करने वाले हैंl जिसमे पड़ोसन,रांझणा 2, सूर्या,राज तंत्र आदि प्रमुख हैं l पिछले साल लॉकडाउन के पहले रिलिज हुई फिल्म “पावर ऑफ दहसत” सुपरहिट रही हैं l जिससे दर्शकों की नजरे इस यूथस्टार पर टिकी हुई हैं। अभिनेता सत्येंद्र कुमार सिंह अपने दमदार अभिनय का लोहा मनवा चुके है ।

One thought on “भोजपुरी सिनेमा के बेहतरी के लिए कम फिल्मे और अच्छी फिल्में करने पर दिया जाए जोर- सत्येंद्र कुमार सिंह”
  1. I must thank you for the efforts youve put in penning this site. I am hoping to check out the same high-grade blog posts by you in the future as well. In fact, your creative writing abilities has motivated me to get my very own blog now 😉

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed

Language »