जिस मणिकर्णिका फील्म की स्थापना के बाद कंगना ने घोसना की थी की वो पहली फील्म अयोध्या पे बनाएगी..आज वो मणिकर्णिका फील्म हमारी आँखों के सामने टूट रहा है.
टुकड़े गैंग वालो का , देश को आतंक में भेजने वालो का समर्थन करने वालो का लोकतंत्र अधिकार है लेकिन देश हिट में राष्ट्र , धर्म हिट में बात करने वालो पे महरासत्रा सरकार बदले की कार्यवाही कर कर रही है.
क्या यही लोकतंत्र है. ……पूछता भारत .

गौर तलब है की जबसे शुशांत सिंह के आत्महत्या के खिलाफ और शुशांत के समर्थन में कंगना ने बोलना शुरू किया है तबसे कई बड़े फील्म निर्देशकों के साथ वो महाराष्ट्र सर्कार के निशाने पे भी आ गयी है. लेकिन इन सब के बावजूद कंगना को जनता का भरपूर समर्थन भी मिल रहा है.
भारत सरकार ने कंगना की सुरक्छा के लिए य श्रेणी की फाॅर्स भी प्रदान की है.

2 thoughts on “जिस मणिकर्णिका की स्थापना के बाद कंगना ने घोसड़ा की थी की वो पहली फील्म अयोध्या पे बनाएगी,आज वो मणिकर्णिका फील्म हमारी आँखों के सामने टूट रहा है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Language »