सीबीएसई आज इंटरनल असेसमेंट स्कीम के साथ जारी करेगा नया नोटिफिकेशन, 10:30 बजे होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

CBSE 10th 12th exams 2020: शेष 10वीं 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने के बाद आज सीबीएसई सुप्रीम कोर्ट में नया नोटिफिकेशन और हलफनामा दाखिल करेगा। नए नोटिफिकेशन में बोर्ड की इंटरनल असेसमेंट स्कीम, उसकी समयसीमा, रिजल्ट का समय, स्टूडेंट्स को दिए गए ऑप्शन की विस्तृत डिटेल होगी। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई को नया नोटिफिकेशन जारी करने का निर्देश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि वह विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुये 12वीं कक्षा के लिये दोबारा परीक्षा, इंटरनल असेसमेंट (आंतरिक मूल्यांकन), रिजल्ट की तारीख और री-एग्जाम की स्थिति से संबंधित मुद्दों पर शुक्रवार (आज) विचार करेगा।

मामले की सुनवाई आज सुबह 10:30 बजे होगी।

शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में कहा था कि सीबीएसई और केन्द्र के अधिवक्ता ने संक्षिप्त हलफनामा पेश किया। इन मामलों को शुक्रवार को सवेरे साढ़े 10 बजे उचित आदेश के लिये सूचीबद्ध किया जाये।

25 जून (फिनलैंड ने 1941 में सोवियत संघ पर हमले की घोषणा की।)

अधिसूचना और हलफनामे में इन सब सवालों के भी जवाब देगा सीबीएसई
सुप्रीम कोर्ट ने कहा गुरुवार को कहा था कि अलग अलग राज्य में स्थिति अलग अलग हो सकती है। क्या यह निर्णय केन्द्रीय प्राधिकारी लेंगे या राज्य निर्णय लेगा? आप इस स्थिति से कैसे निबटेंगे? पीठ ने कहा कि सीबीएसई के नोटिफिकेशन में इंटरनल असेसमेंट और समयसीमा के बारे में संकेत दिया जाना चाहिए। पीठ ने केन्द्र और सीबीएसई से यह भी जानना चाहा कि ये परीक्षाफल कब घोषित किये जायेंगे और 2020-21 का शैक्षणिक सत्र कब से शुरू होगा। केंद्र सरकार और सीबीएसई की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि इस संबंध में शुक्रवार तक नोटिफिकेशन जारी कर दिया जायेगा।’

मेहता ने पीठ को सूचित किया कि 12वीं कक्षा के छात्रों के पिछली परीक्षाओं में प्रदर्शन के आधार पर उनका आकलन करने की एक योजना तैयार की गयी है। सीबीएसई ने पीठ को बताया कि परीक्षा के नतीजे मध्य अगस्त तक घोषित किये जा सकते हैं।

नेपाल की संसद में उठी चीन के कब्जे से नेपाली भूभाग वापस लेने की मांग

1 से 15 जुलाई के बीच होने वाली परीक्षाएं रद्द, 12वीं वालों को दिए गए 2 ऑप्शन
सीबीएसई और केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को गुरुवार को बताया कि 1 से 15 जुलाई के बीच होने वाली परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। सीबीएसई 10वीं की परीक्षा रद्द कर दी गई है। छात्रों को अब इसके लिए कोई परीक्षा नहीं देनी होगी। वहीं सीबीएसई 12वीं के छात्र-छात्राओं को दो विकल्प दिए गए हैं। या तो वे आंतरिक मूल्यांकन (इंटरनल असेसमेंट) के आधार पर मार्क्स पाएं या फिर बाद में परीक्षा में शामिल हों। सरकार और सीबीएसई की ओर से सोलिसोटिर जनरल तुषार मेहता ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को यह जानकारी दी। तुषार मेहता ने शीर्ष अदालत में बताया कि जब स्थिति ठीक होगी, तब 12वीं के उन स्टूडेंट्स की परीक्षा ली जाएगी जिन्होंने परीक्षा का ऑप्शन चुना होगा। केंद्र सरकार इंटरनल असेसमेंट को लेकर शुक्रवार तक उचित योजना लेकर आएगी। इंटरनल असेसमेंट में विद्यार्थी को पिछली 3 परीक्षाओं के आधार पर मूल्यांकन का विकल्प दिया जाएगा।

Add your comment

Your email address will not be published.